बिना मीटर के अपना बिजली बिल कैसे चेक करें?

Electricity bill check: बिजली की पहुँच आजकल लगभग सभी घरों में हो गई है और आपने भी बिजली का कनेक्शन जरूर लिया होगा। कुछ साल पहले तक जब बिजली कनेक्शन सरकारी थी तो उस समय सभी लोगों को बिजली बिल के लिए एक निश्चित राशि का ही भुगतान करना पड़ता था। लेकिन बिजली अब प्राइवेट कंपनी का हो गया है और कोई भी प्राइवेट कंपनी अपने मुनाफे और नुकसान के बारे में अच्छी प्रकार से समझती है।

प्राइवेट बिजली कंपनी ने अब हरेक बिजली उपभोक्ताओं के घर में बिजली मीटर लगवाना अनिवार्य कर दिया है। चाहे आप घरेलु उपयोग के लिए बिजली कनेक्शन लें या किसी भी प्रकार के व्यापर के लिए, आपको आपके हरेक कनेक्शन के लिए एक-एक बिजली मीटर लगवाना जरूरी हो गया है। आप जितने यूनिट बिजली का इस्तेमाल करेंगे वो सब बिजली मीटर में रिकॉर्ड हो जाता है और फिर उसका electric meter reading करके आपको बिजली बिल दिया जाता है और आपको उसके अनुसार ही बिजली बिल का भुगतान करना होता है और बिजली ऑफिस जाकर बिजली का बिल जमा करना पड़ता है।

हालांकि बिजली बिल का भुगतान करने की ये प्रक्रिया बहुत ही साधारण और सभी उपभोक्ताओं के हित के लिए ही है। लेकिन कई बार ऐसा सुनने में आता है कि बिजली ऑफिस ने किसी उपभोक्ता को इस्तेमाल से ज्यादा बिजली बिल भेज दिया है। उपभोक्ताओं की शिकायत होती है कि उनका बिजली बिल उनके बिजली के इस्तेमाल से दोगुना-तिगुना आ जाता है।
Bijli ka bill check karna hai
Pixabay
यदि किसी कंज्यूमर का बिजली बिल हजारों लाखों रूपये में आए तो ये बात आसानी से कही जा सकती है कि ऐसा बिजली मीटर में टेक्नीकल खराबी की वजह से हुआ है। लेकिन यदि किसी उपभोक्ता की शिकायत हो कि उनका बिजली बिल इस्तेमाल से दोगुना-तिगुना या थोडा-बहुत ही ज्यादा आ रहा है तो हो सकता है कि वो कंज्यूमर सचमच में ही उतनी बिजली का उपयोग करते हों लेकिन उन्हें इस बात का अहसास नहीं हो।

यदि आपके साथ भी ऐसी ही कोई समस्या हो और आप भी जानना चाहते हैं कि अपना बिजली बिल कैसे जाने तो आज का हमारा ये पोस्ट जरूर पढ़ें। आज के इस पोस्ट में हम बिना किसी इलेक्ट्रिक मीटर के इस्तेमाल के आपके घर का बिजली बिल ज्ञात करने के लिए हिंदी में सिखायेंगे। यदि आपकी याद रखने की क्षमता तेज है तो ठीक है अन्यथा आप एक कॉपी और एक कलम ले लें और फिर जैसे-जैसे हम पोस्ट में बताते जायेंगे आप कॉपी पर उतारते जाइएगा।


बिजली बिल का रेट किस तरह से होता है?

Bijli bill rate: हमारे घर के बिजली की खपत को यूनिट में मापा जाता है। जब कोई भी कंज्यूमर अपने घर में सिंपल इस्तेमाल करने के लिए बिजली का कनेक्शन लेते हैं तो हरेक महीना उन्हें 50 यूनिट तक बिजली फिक्स रेट पर दिया जाता है। लेकिन यदि किसी महीने में आपका बिजली खपत 50 यूनिट से ज्यादा हो जाये तो 50 यूनिट तक का तो आपको फिक्स रेट ही देना होगा लेकिन 50 से ज्यादा जितना यूनिट का खपत करेंगे उसके लिए आपको नए दर से ज्यादा बिजली बिल का भुगतान करना होगा।

मान लेते हैं कि घरेलू इस्तेमाल में 50 यूनिट तक बिजली खपत के लिए 250 रुपया बिजली यूनिट रेट फिक्स किया हुआ है। आपने बिजली का कनेक्शन लिया हुआ है लेकिन किसी वजह से किसी महीने आप एक भी यूनिट बिजली का इस्तेमाल नहीं कर पाते हैं। तो ऐसी स्थिति में भी आपको पूरे 250 रूपये का भुगतान करना ही होगा। साथ ही यदि आप 50 यूनिट तक कितना भी यूनिट का खपत क्यों न करें फिर भी आपका बिजली बिल 250 रुपया का ही आएगा। इस तरह से 1 यूनिट बिजली यूनिट की दर 5 रुपया पड़ता है।

अब मानकर चलते हैं कि 50-100 यूनिट का बिजली यूनिट रेट 7 रुपया प्रति यूनिट और 100-200 यूनिट का बिजली यूनिट रेट 10 रुपया प्रति यूनिट है। अब मान लेते हैं कि किसी महीने में आप 70 यूनिट बिजली का इस्तेमाल कर लेते हैं। तो 70 यूनिट का बिजली बिल

= 50 यूनिट + 20 यूनिट
= 250rs + (20 X 7) rs
= 250rs + 140 rs
= 390 rs

∴ 70 यूनिट का बिजली बिल = 390 रूपये

ऊपर आप देख सकते हैं कि पहले 50 इकाई (इकाई=यूनिट) बिजली के लिए तो फिक्स रेट 250 रूपये ही लगा है लेकिन उसके बाद के यूनिट के लिए नया रेट लागू हो गया है। एक बात का ध्यान रहे कि ये जो नया रेट लागू हुआ है वो 50-100 यूनिट्स बिजली के लिए है। यदि किसी महीने में आपका विद्युत इस्तेमाल 100 यूनिट से भी ज्यादा हो जाये तो उसके लिए फिर से नया रेट लागू होगा।


बिजली बिल से सम्बंधित इलेक्ट्रिक राशि

खुद से बिजली का बिल चेक करना है तो उससे पहले आपको निम्नलिखित इलेक्ट्रिक राशियों का ज्ञान होना जरूरी है। पहले नीचे बताये जा रहे राशियों को समझ लें और फिर इसके बाद हम खुद से बिजली बिल पता करने का तरीका बतायेंगे।

1) What is a Watt: वाट क्या है?

जिस प्रकार से कोई बाईक 100 की स्पीड में चलता है तो आप समझ जाते हैं कि 100 जो है वो बाईक के दौड़ने की गति है। ठीक उसी प्रकार से वाट भी विद्युत खपत होने की गति होती है। अर्थात किसी भी उपकरण का वाटेज, उस उपकरण के बिजली खपत करने की गति को दर्शाता है। यदि कोई उपकरण 100 वाट का है तो इसका मतलब ये हुआ कि वो उपकरण एक घंटा में 100 वाट बिजली की खपत करेगा। वाट को W से दर्शाते हैं अर्थात 1 वाट को हम 1W भी लिख सकते हैं।

2) What is KiloWatt: किलोवाट क्या है?

1000 वाट बराबर एक किलो वाट होता है। किलोवाट को kW से सूचित किया जाता है।
1KW=1000W

3) What is Watt Hour: वाट घंटा क्या है?

बिजली की कुल खपत को वाट घंटा से दर्शाया जाता है। वाट घंटा को WH से भी सूचित किया जाता है। इलेक्ट्रिक उपकरण के वाट और इस्तेमाल किये गए समय को गुना करने पर वाट घंटा प्राप्त होता है। यदि आप 1W के उपकरण को लगातार 1 घंटा तक उपयोग करते हैं तो इसका मतलब हुआ कि आपने 1 वाट घंटा बिजली का खपत किया है। और यदि आप लगातार 2 घंटे तक 500 वाट के उपकरण का इस्तेमाल करते हैं तो कुल विद्युत की खपत WH

=500 वाट x 2 घंटा {वाट घंटा = वाट x घंटा}
= 1000 वाट घंटा
= 1000 WH

4) What is KiloWatt Hour: किलोवाट घंटा क्या है?

1000 वाट घंटा बराबर 1 किलोवाट घंटा होता है। किलोवाट घंटा को kWH से भी सूचित किया जाता है।
1kWH=1000WH

5) What is Unit of power: यूनिट क्या है या इकाई क्या है?

बहुत लोगों के मन में ये सवाल घुमते रहता है कि एक यूनिट कितना होता है और 1 यूनिट में कितने वाट होते हैं। तो हम आपको बताना चाहेंगे कि 1 किलोवाट घंटा को ही एक यूनिट या एक इकाई कहा जाता है। बिजली बिल हमें इसी यूनिट के आधार पर आता है।
1000WH = 1kWH = 1 यूनिट = 1 इकाई


खुद से अपना बिजली बिल चेक कैसे करें?

यदि आपको बिजली का बिल चेक करना है और यदि आपके पास स्मार्टफोन है तो प्ले स्टोर पर आपको बहुत सारा बिजली बिल चेक करने वाला अप्प्स मिल जाएगा। लेकिन हम यहाँ जो बिजली बिल चेक करने का तरीका बता रहे हैं उसके लिए आपको सिर्फ एक कॉपी और एक कलम की जरूरत पड़ेगी।
  1. सबसे पहले अपने घर में इस्तेमाल होने वाले सभी उपकरणों की एक लिस्ट बनाएं। ध्यान रहे कि इसमें आपके घर में इस्तेमाल होने वाले सारे उपकरण आ जाने चाहिए।
  2. आपके कौन-से उपकरण कितने वाट के हैं उसे भी अपने कॉपी पर उतार लें।
  3. आप किस उपकरण का दिन भर में कितने घंटे इस्तेमाल करते हैं वो भी अपने कॉपी पर उतार लें।
  4. इस प्रक्रिया को आप नीचे के उदाहरण से भी समझ सकते हैं।

वाट
घंटा
वाट घंटा
बल्ब
9W
x 40H (5 बल्ब)
= 360 WH
पंखा
65W
x 20H (2 पंखा)
= 1300 WH
मोबाइल चार्जर
3W
x 12H (4चार्जर)
= 36 WH
टेलीविज़न
70W
x 3H
= 210 WH
सेट टॉप बॉक्स
20W
x 3H
= 60 WH
आयरन
500W
x 3H
= 1500 WH



कुल = 3466 WH
  1. ऊपर टेबल में आप देख सकते हैं कि हमने ठीक उसी प्रकार से टेबल बनाया है जिस प्रकार से एक आम घर में इलेक्ट्रिक उपकरणों के इस्तेमाल किये जाते हैं। यदि आपके घर में इससे ज्यादा या इससे कम उपकरण इस्तेमाल किये जाते हैं तो आप अपने इस्तेमाल के अनुसार वाले उपकरणों का ही टेबल बनाइएगा।
  2. दूसरी पंक्ति में आप देख सकते हैं कि बल्ब को हमने 9W का माना है क्योंकि अधिकांश घर में 9W के बल्ब ही इस्तेमाल होते हैं। इसके साथ ही बाकी सभी उपकरणों के वाट्स भी हमने लिख दिया है। लेकिन आपका उपकरण जितने वाट का होगा आप उतना वाट ही अपने टेबल में लिखियेगा।
  3. चूँकि घर के हरेक कमरे में अलग-अलग बल्ब लगाया जाता है इसलिए हमने 5 बल्ब मानकर चला है। साथ ही बल्ब चूँकि सिर्फ दिन में ही जलाया जाता है इसलिए हमने मानकर चला है कि हम दिन में सिर्फ 8 घंटा ही बल्ब जलाते हैं। तो इस तरह से बल्ब के लिए कुल घंटा = 8x5 = 40 घंटा।
  4. इसी प्रकार से हमने सभी उपकरणों के इस्तेमाल होने का पूरा घंटा लिख दिया है।
  5. इसके बाद चौथी पंक्ति में हमने सभी उपकरण के वाट और घंटा को गुना करके WH लिख दिया है।
  6. और फिर सबसे नीचे में हमने सभी WH को जोड़कर बिजली के टोटल खपत को कैलकुलेट कर लिया जो कुल मिलाकर 3466 WH आया है।
  7. इसका मतलब ये हुआ कि एक दिन में कुल मिलाकर आप 3466 वाट घंटा बिजली की खपत कर देते हैं।
  8. अब 3466 वाट घंटा
= 3.466 किलोवाट घंटा
= लगभग 3.5 किलोवाट घंटा
= 3.5 यूनिट/इकाई {∵ 1 किलोवाट घंटा = 1 यूनिट}

अर्थात आपके घर में रोजाना साढ़े तीन यूनिट विद्युत खपत होती है। यहाँ एक बात का ध्यान रहे कि किसी एक दिन आपने इतना यूनिट बिजली का उपयोग किया है तो जरूरी नहीं है कि पूरे महीने आप इसी तरह से विद्युत का उपयोग करेंगे। लेकिन फिर भी यहाँ आपको समझाने के लिए मान लेते हैं कि पूरे महीने आप इसी तरह से बिजली का उपयोग करेंगे। इसलिए, 30 दिन की कुल बिजली खपत

= 3.5 यूनिट x 30
= 105 यूनिट

इसका मतलब ये हुआ कि पूरे महीने आप 105 यूनिट बिजली का उपयोग करते हैं। अब इसके बाद आप इस यूनिट पर अपने विद्युत का रेट लगा दीजिये। उदाहरण के लिए मान लेते हैं कि 0-50 यूनिट विद्युत का रेट 250 रुपया, 50-100 यूनिट बिजली का रेट 7 रुपया प्रति यूनिट और 100-200 यूनिट बिजली का रेट 10 रुपया प्रति यूनिट है। तो आपके एक महीने का बिजली बिल होगा...105 यूनिट

= 50 यूनिट + 50 यूनिट + 5 यूनिट
= 250 रुपया + (50x7) रुपया + (5x10) रुपया
= 250 रुपया + 350 रुपया + 50 रुपया
= 650 रुपया {समाप्त...}

नोट:- वाट और यूनिट का सम्बन्ध वोल्ट से भी है। यहाँ जो भी कैलकुलेशन बताया गया है वो 220V के लिए बताया गया है। यदि आपके यहाँ इसका आधा वोल्टेज ही है तो आपके बिजली का खपत भी आधा ही होगा।


उम्मीद है कि आपको समझ आ गया होगा कि आपके बिजली का मीटर किस प्रकार से आपके बिजली बिल को कैलकुलेट करता है और आपका बिजली बिल किस आधार पर आता है। यदि इस पोस्ट को समझने में आपको कहीं कोई परेशानी हो या आपका कोई सवाल हो तो कमेन्ट करके हमें जरूर बताएं। यदि ये पोस्ट आपको पसंद आया हो तो इसे सोशल मीडिया पर अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर कीजियेगा और इस वेबसाइट को सब्सक्राइब करना भी न भूलियेगा।