Electric Shock: घर में करंट लगने के Top 5 वजह

मानव शरीर इतना नाजुक होता है कि यदि एक सुई भी चुभ जाये तो प्राण निकलने जैसा अहसास होता है। यदि mistake से कभी हमारा body विद्युत् प्रवाहित किसी नंगे तार के contact में आ जाये कितना बड़ा loss हो सकता है ये कहना मुश्किल है। यदि कभी गलती से कोई इंसान किसी बिजली प्रवाहित तार या किसी electric device के संपर्क में आ जाए तो लगता है कि जैसे जान ही निकल गई थी।

तो अब जरा सोचिये कि उस इंसान की क्या हालत होती होगी जिसके पूरे-के-पूरे घर में एकाएक ही बिजली के झटके आने लगे! जरा सोचिये कि उस हालत में वो इंसान कितना बेबस हो जाता होगा! यदि घर में आने वाला झटका ज्यादा गंभीर न हो तो तब तो लोग किसी तरह से घर से निकल भी सकते हैं।

लेकिन यदि घर में तगड़ा झटका आने लगे तो उस condition में वो अपने पैरों पर चलकर घर से बाहर भी नहीं निकल सकता। उसे घर के अंदर ही पलंग या ऐसे ही किसी विद्दुतरोधी चीज पर कैद हो जाना पड़ता है। इसके बाद वो तभी घर से निकल सकता है जब या तो बिजली खुद ही चला जाये या फिर उसका कोई हमदर्द electric pole पर से उसके घर के connection wire को उतार दे।
electric shock management and reasons
Pixabay
लेकिन यहाँ सोचने वाली एक बात ये भी है कि आखिर घर में झटका आया तो कैसे आया? कल तक तो सबकुछ ठीक-ठाक था, तो फिर आज एकाएक ऐसा क्या हो गया जो पूरे घर में ही झटका आने लग गया! लेकिन शायद आप भी जानते होंगे कि एकाएक से कुछ भी नहीं होता है। जब भी कोई हादसा होता है तो उसकी कोई-न-कोई वजह जरूर होती है। इसीलिए घर में electric shock आने के भी एक नहीं बल्कि कई वजह हो सकते हैं।

इनमें से कुछ वजह तो automatic create हो जाते हैं जबकि कुछ बहुत सारे वजह हमारी ही गलतियों के वजह से पैदा होते हैं। तो, आज इस post के माध्यम से हम आपको ऐसे ही कुछ common mistakes के बारे में हिंदी में बताएँगे जो आपके घर में करंट आने को वजह बन सकते हैं। इसलिए इस पोस्ट को पूरा पढ़ें और यदि इनमें से कोई गलती आप भी कर रहे हैं तो हमारे द्वारा बताये गए तरीकों से उसे जल्द-से-जल्द सुधार लेने की कोशिश करें।

1) घर या मकान के पिलर (रॉड) में earthing को जोड़ देना

ये तो आप सभी को पता होगा कि किसी भी उपकरण के काम करने के लिए 2 connection wire की जरूरत पड़ती है। एक wire जो electric पोल पर से ली जाती है उसे गर्मी कहा जाता है और दूसरे earthing wire ठंडी को धरती से निकला जाता है। यदि धरती से एक मजबूत अर्थिंग निकाला जाये तो उसके लिए गहरा गड्ढा खोदना पड़ता है जिसके लिए ज्यादा मेहनत और ज्यादा पैसों की लागत पड़ती है।

बहुत सारे लोग ऐसे होते हैं जो इस मेहनत और खर्चे से बचने के लिए धरती से earthing का connection न निकालकर उसे अपने घर के पिलर या रॉड से जोड़कर निकाल लेते हैं। ऐसा करने से उनका time और money तो बच जाता है लेकिन वो एक बहुत ही बड़ा खतरा मोल ले लेते हैं। ऐसा करते समय तो वो सोचते होंगे कि वो इस पिलर के पास आएंगे ही नहीं तो उन्हें भला दिक्कत क्या होगी?


लेकिन वो लोग ये बात भूल जाते हैं कि उनके घर के बच्चों को ये बातें समझ नहीं आती और वो कभी भी उस पिलर के संपर्क में आकर अपना नुकसान कर सकते हैं। इतना ही नहीं, इस तरह से निकाले गए अर्थिंग की वजह से घर के वोल्टेज हमेशा ही घटते-बढ़ते रहते हैं और कभी भी सही voltage सप्लाई नहीं करते हैं। तो ऐसे में लोगों को बार-बार इसे सही से जोड़ना पड़ जाता है और इसलिए दुर्भाग्य से कभी कोई बड़ा हादसा भी हो सकता है।

ये तो थी कुछ सामान्य वजह, लेकिन आपका ये जान लेना भी बहुत ही जरूरी है कि घर में बिजली के झटके आने की भी ये एक बहुत ही बड़ी वजह हो सकती है। खासकर बरसात के season में तो इस बात की की पूरी-पूरी संभावना होती है। इसलिए यदि आपके घर में भी इसी तरह से अर्थिंग का कनेक्शन निकाला गया हो तो इसे जल्द-से-जल्द सही कर लें और धरती से ही ये कनेक्शन निकालें। इसके लिए आपका 1-2 दिन invest जरूर होगा लेकिन जिन्दगी भर के समस्या से आपको छुटकारा मिल जायेगी।

Note:- ज्यादातर इलाकों में आजकल अर्थिंग का कनेक्शन भी बिजली company के द्वारा ही supply किए जाते हैं, ऐसे जगह वाले हमारे पाठकों के लिए ये topic शायद महत्व न रखता हो लेकिन इसे पढ़कर अपना general knowledge बढ़ा लेने में कोई बुराई नहीं है।

2) Rainy Season (बरसात का मौसम)

यदि हमारे घर की वायरिंग मजबूती से न की गई हो या फिर यदि हमारे घर के पास से होकर गुजरने वाले तार कमजोर और नंगे हो तो इस वजह से खासकर बरसात के मौसम में घर में electric shock आने आम बात हो जाते हैं। इसलिए अपने घर की वायरिंग एक ही बार में मजबूती से करवा लें और अपने घर के बगल से कटे हुए या नंगे तार को बिल्कुल भी न गुजरने दें। इस तरह के तार से कभी भी आपको नुकसान पहुँचा सकते हैं।


दूसरी बात ये है कि, बरसात के समय अपने सभी इलेक्ट्रिक उपकरण को भीगने से बचाएँ और उन्हें किसी भी हालत में कभी भी पानी के contact में न आने दें। यदि कोई भी device ज़रा भी पानी के संपर्क में आ गया तो उससे sparking होने के chance बहुत ज्यादा हो जाते हैं और ऐसे उपकरण आपको कभी भी भारी नुकसान पहुंचा सकते हैं। साथ ही बरसात का season होने की वजह से कुछ पल के लिए ही सही लेकिन आपके पूरे घर में भी करंट दौड़ सकती है।

तीसरी और सबसे important बात ये है कि यदि बरसात के मौसम में या फिर किसी भी अन्य वजह से भींगकर कभी भी घर में प्रवेश करें तो सबसे पहले सूखे कपड़े से पोंछकर अपने शरीर को अच्छी तरह से सूखा लें और इसके बाद ही बिजली प्रवाहित किसी उपकरण या electric board के संपर्क में आयें। यदि आप गीले शरीर ही बिजली प्रवाहित उपकरण के संपर्क में आ गए तो फिर थोड़ी सी गलती से भी आपको झटके लग सकते हैं और इस दौरान आपके पूरे घर में भी करंट दौड़ सकते हैं।

3) घर की wiring सही से नहीं करवाना

बहुत से लोग अपना समय और थोडा सा पैसा बचने के चक्कर में सही से घर की वायरिंग नहीं करवाते हैं और किसी भी तरह से सिर्फ सभी उपकरणों का connection मात्र कर देते हैं। बहुत सारे लोग कम दाम के तार का इस्तेमाल करते हैं जो कि ज्यादा load पड़ने की वजह से कभी भी जल सकता है और इस वजह से पूरे घर में भी करंट दौड़ सकती है।


इतना ही नहीं, वायरिंग में लगाये गए तार में यदि ज्यादा बार insulator tape का इस्तेमाल किया गया हो और यदि एक भी जगह मजबूती से टेप का इस्तेमाल नहीं किया गया हो तो sparking की वजह से तार का वो joint point कभी भी जल सकता है और कुछ ख़ास परिस्थिति में इस वजह से घर में आग भी लग सकता है और पूरे घर में करंट भी दौड़ सकता है। इसलिए जब भी घर की वायरिंग करवाएं तो tape का इस्तेमाल कम-से-कम करें और जितना भी tape का इस्तेमाल करें, मजबूती से करें।

4) घर की वायरिंग पर जरूरत से ज्यादा उपकरणों का इस्तेमाल करना

एक समय ऐसा होता है जब आप अपने घर की वायरिंग सिर्फ एक पंखे और एक बल्ब के इस्तेमाल को देखते हुए ही करवाते हैं। लेकिन बीतते समय के साथ-साथ आपके घर में इलेक्ट्रिक उपकरण बढ़ते जाते हैं और आप उन सभी उपकरणों को पहले से कराये गए वायरिंग पर ही इस्तेमाल करने लगते हैं।

लेकिन उस समय लोग ये बात भूल जाते हैं उनके घर की वायरिंग इतनी मजबूत नहीं है कि उतने उपकरणों का भार संभाल पाए। नतीजा ये होता है कि धीरे-धीरे करके wiring कमजोर होते जाते हैं और wire से लेकर board तक सारे सामान धीरे-धीरे करके जलने लगते हैं। इतना ही नहीं, इस बात का पता हमें तब चलता है जब स्पार्किंग की वजह से घर में आग लग जाती है या घर में करंट दौड़ने लगती है।


इसलिए जब भी कभी अपने घर की वायरिंग करवाएं तो future के जरूरत को ध्यान में रखते हुए ही करवाएं। यदि present time में आप सिर्फ जरूरत तक ही खर्च करके wiring करवा पाते हैं तो कम-से-कम इस बात का ध्यान जरूर रखें कि future में जब भी कभी कोई ज्यादा power खपत करने वाला उपकरण खरीदें तो उसके लिए अलग से वायरिंग जरूर करवा लें या फिर पहले से किये गए wiring को अपने नए जरूरत के अनुसार update जरूर करवा लें।

5) Electric Wire को छत के हुक से निकालना

आज भी ग्रामीण इलाकों में बहुत सारे लोग professional तरीके से घर की वायरिंग नहीं करवाते हैं और सिर्फ तार और बोर्ड लगाकर बिजली का इस्तेमाल करते हैं। हालांकि, इस तरह के wiring से भी कोई problem नहीं है लेकिन दिक्कत तो तब हो जाती है जब लोग वायर को ऐसे ही लटकाकर छोड़ देते हैं और या फिर तार को ऊँचाई पर रखने के लिए उसे घर के हुक के अन्दर से निकाल लेते हैं।

यदि आप भी ऐसा ही करते हैं तो आपके घरों में झटके आने की एक वजह ये भी हो सकती है। आप तो जानते ही हैं कि छत के हुक लोहे के होते हैं और जब उसके अन्दर से तार को निकला जायेगा तो जाहिर सी बात है कि धीरे-धीरे करके तार का insulator रबड़ कमजोर होकर छिलाता जायेगा और फिर बिजली प्रवाहित तार का हूक से सीधा contact हो जायेगा। तो ऐसे में घर में करंट दौड़ने तो आम बात हो जायेंगे।


इसलिए जब भी कभी इस तरह की वायरिंग करें और ज्यादा खर्च कर पाने में असमर्थ हों तो कम-से-कम हुक से तार निकालने की गलती करने से जरूर बचें। यदि हो सके तो market से अपने जरूरत के size के wall clip खरीदकर उसका इस्तेमाल तार को दीवार के साथ व्यवस्थित करने के लिए जरूर करें।

6) लोहे के खिड़की या दरवाजे से होकर तार को cross करना

बहुत से लोग ऐसे होते हैं जिनके घर में लोहे के खिड़की और दरवाजे के इस्तेमाल किये जाते हैं। इनमें से कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो घर की wiring करवाते समय ये बात भूल जाते हैं कि उनके घर में लोहे के material के इस्तेमाल किये गए हैं। और ऐसे लोग इसी दरवाजे से कोने से सटाकर तार को निकाल लेते हैं। धीरे-धीरे करके तार कमजोर होता जाता है और एक समय ऐसा भी आता है जब घर में स्पार्किंग होने लगता है।

इसलिए यदि आपके घर में भी इसी तरह की wiring की गई हो तो जल्द-से-जल्द इसे सही कर लें और तार को दरवाजे के बजाये ventilator से निकालने का प्रयास करें। हो सकता है कि इसमें आपको कुछ meter अतिरिक्त तार खरीदने पड़ जाएँ, लेकिन यदि आप ऐसा कर लेते हैं तो ये आपके लिए खुशियों की सौगात साबित होगा।


आपको हमारा ये पोस्ट कैसा लगा और ये आपके लिए कितना important साबित होगा, कमेंट करके हमें जरूर बताएं। यदि आपको हमारी ये जानकारी अच्छी लगे तो social media पर इसे अपने relatives के साथ शेयर करना न भूलें और हमारे ऐसे ही useful पोस्ट की notification अपने Email ID पर पाने के लिए हमारे website को सब्सक्राइब जरूर कर लें।