AC को DC में बदलकर उसे फिल्टर कैसे किया जाता है?


आपने हमारे पिछले पोस्ट में पढ़ा था कि "ट्रांसफार्मर क्या है और ये कैसे काम करता है?" और आज मैं आपको बताने जा रहा हूँ कि जब हम इस transformer के primary coil पर supply दे देते हैं तब उससे जो कम volt के AC निकलते हैं उसे DC में कैसे convert किया जाता है? और फिर उसे filter कर शुद्ध DC में कैसे बदला जाता है? तो दोस्तों, पूरी जानकारी पाने के लिए हमारे इस पोस्ट को अंत तक जरूर पढ़ें

👉 हमारे इस पोस्ट में ख़ास क्या है?

 हमारे पिछले पोस्ट में तो आपने transformer के बारे में अच्छी तरह से जान ही लिया है और उसके कामों को भी अच्छे तरह से जान लिया है। लेकिन जैसा कि मैंने उस पोस्ट में बताया था कि transformer सिर्फ-और-सिर्फ AC पर ही काम करता है और सिर्फ-और-सिर्फ AC ही out करता है

AC और DC के बारे में डिटेल्स के साथ जानने के लिए हमारा ये पोस्ट जरूर पढ़ें।

 तो फिर जैसा कि आपलोग समझते ही होंगे कि हमारे बहुत ही कम ऐसे काम हैं जो कि AC पर होते हैं, क्योंकि अधिकांश circuits में हमें सिर्फ DC की ही जरूरत पड़ती है इसीलिए हमारे साथ एक समस्या ये आ जाती है कि आखिर हम transformer से out हुए AC current को DC में कैसे बदलें? तो दोस्तों, यहाँ मैं आपको बता देना चाहूँगा कि ये कोई बड़ी समस्या नहीं है हरेक उपकरणों में ही AC को DC में convert किया जाता है ऐसा कैसे किया जाता है चलिए जानते हैं? लेकिन आगे बढ़ने से पहले मैं आपको बता देना चाहूँगा कि हमें बहुत सारे circuits में ऐसे काम के example मिल जायेंगे, लेकिन हम यहाँ पर सिर्फ एक simple से 12 volt की battery वाले charger के लिए ऐसा कैसे किया जायेगा बताएँगे, जो कि बाकि के सभी उपकरणों के लिए भी लागू होंगे

   ये पोस्ट भी जरूर पढ़ें :-

❄ चार्जर बनाने के लिए किस-किस सामानों की जरूरत पड़ती है?
❄ कोई भी चार्जर कैसे बनाया जाता है?

      
तो दोस्तों, चलिए मान लेते हैं कि आपने 12 volt के एक transformer की help से उसके प्राइमरी क्वाइल के सिरे तक के सभी componants को सही से fit कर दिया है यानि कि आपने input वाले circuit को पूरा कर लिया है और अब आपको सिर्फ output वाले circuit पर काम करना बचा रह गया है तो दोस्तों, यहाँ पर ज्यादा काम नहीं बचता है, यहाँ सिर्फ इतना करना होता है कि transformer के secondry सिरे से जो 12 volt के AC current मिल रहे होते हैं उसे सिर्फ हमें DC में convert करना होता है और फिर उसके बाद उसे filter करना होता है यानि कि अब हमें सिर्फ 2 ही काम करने होते हैं तो दोस्तों, चलिए सबसे पहले जानते हैं कि आखिर.......

AC को DC में कैसे convert किया जाता है?

AC को DC में convert करने के लिए जिस युक्ति का उपयोग किया जाता है उसे Rectifier ( रेक्टिफायर ) कहा जाता है ये काम कम-से-कम 1 और ज्यादा-से-ज्यादा 4 Diodes ( डायोड्स ) के use से किया जाता है
AC को DC में बदलकर उसे फ़िल्टर ( शुद्ध ) कैसे किया जाता है?

 हालांकि कुछ विशेष circuit में इसके लिए 4 से भी ज्यादा diodes का इस्तेमाल देखा जा सकता है लेकिन यहाँ पर हम सिर्फ 4 diodes के इस्तेमाल से बनने वाले रेक्टिफायर की ही बात करेंगे अन्य तरह के rectifier और दूसरे componants के बारे में हम आगे के post में बताते रहेंगे लेकिन फिलहाल जितनी आवश्यक जानकारी होगी वो हम यहाँ भी जरूर बताएँगे तो चलिए जानते हैं कि आखिर.....

4 diodes का Full Wave Bridge Rectifier कैसे बनाया जाता है और इसका use कैसे होता है?

सबसे पहले तो यहाँ बता देना चाहूँगा कि यदि आप एक अच्छा और मजबूत rectifier बनाना चाहते हैं तो कम-से-कम 5408 नंबर के diode का इस्तेमाल जरूर करें यदि ये आपके पास उपलब्ध न हों तो आप 4007  का भी इस्तेमाल वैकल्पिक तौर पर कर सकते हैं 
AC को DC में बदलकर उसे फ़िल्टर ( शुद्ध ) कैसे किया जाता है?


1 ≫ सबसे पहले 4 diodes लें और उनके छोर को अच्छी तरह से रेती या ब्लेड से रगड़कर एकदम चमकीला बना दें ताकि उसपर लगे गंदगी हट जाए और सर्किट सही से काम करे
AC को DC में बदलकर उसे फ़िल्टर ( शुद्ध ) कैसे किया जाता है?

    हमारे इस पोस्ट को भी पढना न भूलें.
 👉 Home wiring करते time इन Top 10 mistakes का रखें ख्याल
 👉 12 volt DC को 5 वोल्ट DC में कैसे convert किया जाता है?



2 ≫ जब आप चारों के सभी छोरों को अच्छी तरह से साफ़ कर लेंगे तो उसके बाद उससे 2 diode लें और दोनों के possetive यानि कि (+) वाले सिरे को या तो पिलाश की सहायता से अच्छी तरह से गाँठ बना दें, या फिर sholdering की help से अच्छे से उसपर sholder कर दें


AC को DC में बदलकर उसे फ़िल्टर ( शुद्ध ) कैसे किया जाता है?


3 ≫ इसके बाद बाकी के दोनों बचे हुए diodes भी लें और इनके दोनों negative यानि कि (-) वाले सिरे को पहले के तरह ही आपस में जोड़ दें 


AC को DC में बदलकर उसे फ़िल्टर ( शुद्ध ) कैसे किया जाता है?


4 ≫ ये जो आपने बारी-बारी से (+) और (-) वाले सिरों को आपस में जोड़े हैं, यही आपके output DC वाले point होंगे, लेकिन इनके connections उल्टे होंगे यानि कि diode के (+) वाले joint से output DC का (-) लिया जायेगा और (-) वाले जॉइंट से आउटपुट DC का (+) लिया जायेगा


AC को DC में बदलकर उसे फ़िल्टर ( शुद्ध ) कैसे किया जाता है?


5 ≫  इसके बाद आपको करना क्या है कि उन 2 diodes के जो 2 set उन्हें लेकर उनके एक-एक छोर को दूसरे set के किसी भी एक-एक छोर से पहले की ही तरह जोड़ देना है और फिर इन्हीं दोनों points पर आपको transformer से निकले AC के secondry coil वाले तारों को जोड़ देना है, जिससे कि आपका रेक्टिफायर पूरा हो जायेगा और उन डायोड्स से AC करंट DC में convert होकर निकलने लगेगा


AC को DC में बदलकर उसे फ़िल्टर ( शुद्ध ) कैसे किया जाता है?



फिर जब आप इतना कर लेते हैं तो बारी आती है उस DC current को filter करने की, क्योंकि वो जो DC current डायोड से निकलता है वो शुद्ध नहीं होता है और उसमें भी AC के कुछ अंश मौजूद होते हैं जिसे कि capasitor के द्वारा फ़िल्टर करके शुद्ध किया जाता है तो चलिए दोस्तों, जानते हैं कि आखिर.....

विशुद्ध DC को capasitor के द्वारा filter करके शुद्ध DC में कैसे convert किया जाता है?

दोस्तों, अब जबकि आप विशुद्ध AC प्राप्त कर ही चुके हैं तो अब आपको बस एक अंतिम काम ये करना है कि उस output DC में एक capasitor को जोड़ देना है हमें कहाँ पर किस value के capasitor को जोड़ना होगा ये तो पूरी तरह से details में हम इसके ख़ास post में ही बता पायेंगे लेकिन फिलहाल हम एक 12 volt के charger के लिए यदि बात करें तो उसके लिए हमें नीचे बताये गए कुछ बातों का ध्यान रखना होगा.....

1 ≫ Capasitor का volt  ⇰  दोस्तों, आमतौर पर किसी भी चार्जर में उसके volt से 2 गुने वोल्ट के कैपेसिटर का कम-से-कम इस्तेमाल किया जाता है तो इस तरह से चूंकि हम 12 वोल्ट का चार्जर बना रहे हैं इसीलिए हमें capasitor 12*2  यानि कि 24 volt का इस्तेमाल करना होगा लेकिन market में चूंकि 25 वोल्ट के कैपेसिटर मिलते हैं इसीलिए हम निस्संदेह इसका इस्तेमाल कर सकते हैं लेकिन यदि कम volt का इस्तेमाल करेंगे तो उसके जल्दी ही फट जाने का डर रह जायेगा


AC को DC में बदलकर उसे फ़िल्टर ( शुद्ध ) कैसे किया जाता है?


2 ≫ Capasitor की capisity यानि कि MFD  ⇰  हम कितने Ampier ( एम्पियर ) का charger बना रहे हैं उसी बात पर कैपेसिटर की capasity depend करता है आमतौर पर यदि हम 7.5 ampier वाले battery के लिए charger बनाते हैं तो उसमें कम-से-कम 1000 MFD यानि कि 1000 माइक्रो-फैराड का capasitor का इस्तेमाल कर सकते हैं इससे ज्यादा जितने कैपेसिटी की चाहें इस्तेमाल कर सकते हैं जिससे कि कोई दिक्कत नहीं होगी साथ ही एक बात ये भी है कि यदि हम बहुत ही ज्यादा ampier, मान लेते हैं कि 30 एम्पिएर की बैटरी वाले चार्जर बनाते हैं तो उसमें फिल्ट्रेशन की जरूरत ही नहीं पड़ती है यानि कि उसके charger को आप बिना cpasitor के भी बना सकते हैं क्योंकि सामान्य तौर पर वो battery थोड़े-बहुत AC झटके सह भी लेते हैं और थोडा-बहुत खुद ही filter करने की क्षमता भी रखते हैं

    हमारे इस प्रसिद्द post को पढना न भूलें.
 👉 Strong और टिकाऊ sholdering कैसे किया जाता है ?
 👉 Electronics relay क्या और कैसे work करता है ?
 👉 Transformer क्या है और इसका काम क्या है ?

3 ≫ Capasitor का negative (-) और posetive (+) पिन को उल्टा-सुलटा न लगायें  ⇰  सबसे बड़ी बात ये है कि यदि हम charger में capasitor को गलत तरीके से यानि कि उल्टे पिन जोड़ देंगे तो वो उसी समय hit होने लगेगा और उसके अन्दर गैस बन जायेगा जिससे कि वो blast करके फट जाएगा तो दोस्तों, इनके (+) और (-) पिन कि अच्छे से ध्यान रखकर इसे सेट करें


Capasitor को charger में सही से कैसे लगायें?

1 1 ≫ सबसे पहले तो पता करें कि capasitor का कौन-सा पिन negative और कौन-सा posetive है? कैपेसिटर की निगेटिव पिन के तरफ एक लम्बी धारी बनी हुयी होती है जिसपर (-) लिखी हुयी होती है, जिससे कि आप उसके पिन को अच्छी तरह से पहचान सकते हैं

2 ≫ इसके बाद आपने 4 diodes का जो rectifier बनाया था और उसके जिस (+) वाले point को आपने output DC के (-) से जोड़ा था उसी point पर इस capasitor का (-) वाला सिरा जोड़ दीजिये और इसके बाद इसी तरह से capasitor का (+) वाला सिरा भी जोड़ दें यानि कि कुल मिलकर आपको यहाँ ध्यान ये रखना है कि आपके output DC के जो connections होंगे वहीं पर आपको capasitor को जोड़ देना है, जिसमें कि उसके (+) और (-) भी same आउटपुट के (+) और (-) पर ही जोड़े जायेंगे


AC को DC में बदलकर उसे फ़िल्टर ( शुद्ध ) कैसे किया जाता है?
शुद्ध सर्किट 



     हमारे ये famous post भी जरूर पढ़ें.
 👉 Electric Press iron क्या है और ये कितने तरह का होता है ?
 👉 Ceiling Fan के coil की binding से कमाई कितनी होती है ?
 👉 जानिये क्यों बार-बार होते हैं ख़राब हमारे पंखे?
 👉 Jobless लोग electronics के ये काम करके कर सकते हैं अच्छी earning



तो दोस्तों, उम्मीद है कि आप लोगों ने अब AC को DC में सफलतापूर्वक convert करके उसे filter कर लेने के बारे में भी अच्छे से समझ लिया होगा यदि हमारे इस post से आपकी कुछ मदद हुयी होगी तो हमारे पोस्ट को Like और Share जरूर कीजियेगा और साथ ही हमें Subscribe करना भी मत भूलियेगा, ताकि हमारे ऐसे सारे post की notification सीधे ही आपके Email ID पर मिल जाएऔर आप तुरंत ही उसे पढ़ सकें तो दोस्तों, बहुत ही जल्द मिलेंगे अपने नए पोस्ट के साथ। धन्यवाद.....

2 Comments;

thank you sir hum ise use karne se pehle multimeter se kaise check karenge

Uski koi jaroorat hi nahin hai. Yadi aap market se naye saaman khareedkar apna project banate hain to same isi tarah se bana sakte hain aapko koi dikkat nahin hogi. Haan, yadi samajhne mein kahin koi dikkat ho to jaroor bataiyega. Aap chahein to hamare Multi-meter waale post bhi padh sakte hain lekin filhaal usmein bahut saare kaam baaki hain. Dhire-dhire un posts ko bhi update karta jaunga. Lekin filhaal aap niche diye gaye links se un posts tak pahunch sakte hain.....

http://www.electronicsfande.ml/search/label/ANALOG%20MULTI-METER
http://www.electronicsfande.ml/search/label/DIGITAL%20MULTI-METERS

Baaki kisi bhi tarah ke help ke liye aap mujhse kah sakte hain. Hum aapki poori madad karenge.